भूगोल के अहम हस्ताक्षर हैं डॉ. बी.सी. जाट


पर्यावरण प्रेम और पर्यावरण जागरुकता का जीता जागता उदाहरण देखना हो, तो डॉ. बी.सी. जाट पर यह खोज खत्म हो जाती है। पर्यावरण संरक्षण से ताल्लुक रखने वाली समस्याओं और संभावनाओं के प्रति बेहद संवेदनशील डॉ. जाट की मात्र 37 वर्ष की उम्र में भूगोल पर अब तक 25 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। डॉ. जाट राष्ट्रीय स्तर पर 'मेदिनी पुरस्कार' और 'पृथ्वी विज्ञान मौलिक लेखन पुरस्कार' से भी सम्मानित हो चुके हैं।


मैरिट में बनाया स्थान


प्रसिद्ध पर्यावरणविद और भूगोलवेत्ता डॉ. बी. सी. जाट अपने अध्ययन-अध्यापन के जरिए राष्ट्रीय-अन्तरर्राष्ट्रीय स्तर पर खास पहचान रखते हैं। डॉ. जाट का जन्म जयपुर की चर्चित आमेर तहसील के गांव रामपुरा डाबड़ी के किसान परिवार में 15 फरवरी 1972 को हुआ। रामपुरा डाबड़ी से ही प्रारम्भिक शिक्षा लेने वाले जाट ने उच्च माध्यमिक शिक्षा चौमूं से बोर्ड मैरिट में स्थान बनाया। राजस्थान विश्वविद्यालय से 1999 में एम.फिल और पीएचडी की डिग्री लेने वाले डॉ. जाट ने भारतीय सूदूरसंवेदन संस्थान, देहरादून से जल प्रबंधन एवं रिमोट सेंसिंग पर अध्ययन पूरा किया।


पर्यावरण को समर्पित जाट
शुरू से ही नैसर्गिक प्रतिभा के धनी डॉ। जाट पर्यावरण के प्रति जागरूक रहे और रामपुरा डाबड़ी में न्यू चिल्ड्रन एकेडमी संस्था स्थापित करके अपनी शुरूआत की। जिसके जरिए जल एवं पर्यावरण प्रबंधन पर कार्य किया। घटते भूजल पर नियंत्रण के लिए बागवानी विकास पर कैंप लगवाए और इलाके में बड़ी संख्या में पौधरोपण करवाया, जो आज भी मिसाल है। यह उनके द्वारा स्थापित प्रथम संस्थागत कार्य था। डॉ. जाट ने अपने शोध निर्देशक डॉ. रामकुमार गुर्जर व मेग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित राजेन्द सिंह के सहयोग से जयपुर ग्रामीण क्षेत्र में पर्यावरण संरक्षण पर कार्य किया। मरूधरा अकादमी, जयपुर के साथ भी सम्मिलित रूप से पर्यावरण के कार्यों में जुटे रहे डॉ. जाट, राजीव गाँधी पेयजल मिशन और ग्रामीण स्वच्छता व पेयजल पर भी काम कर चुके हैं।


संपादकीय भूमिका में डॉ. जाट
झुंझुनूं में भूगोल के व्याख्याता डॉ। जाट स्थानीय स्तर से लेकर राष्ट्रीय-अन्तरर्राष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं और समाचार पत्रों में विषय-विशेषज्ञ के रूप में पांच दर्जन से अधिक पर्यावरणीय एवं जल प्रबंधन पर लेख प्रकाशित कर चुके हैं। डॉ. जाट अंतरराष्ट्रीय स्तर की शोध पत्रिका 'जर्नल ऑफ वाटर एण्ड लेण्डयूज मैनेजमेंट' के सह संपादक भी हैं। वे राजस्थान भूगोल परिषद के उपाध्यक्ष भी हैं। डॉ. जाट दिल्ली से प्रकाशित 'भूगोल और आप' सहित दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका में पर्यावरण और जल संरक्षण से जुड़े मुद्दों पर लेखन का खासा अनुभव भी रखते हैं।


राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित
लगभग डेढ़ दर्जन राष्ट्रीय-अन्तरर्राट्रीय भूगोल सम्मेलनों में भाग लेकर शोध पत्र पढ़ चुके डॉ. जाट को उनकी पुस्तक 'संसाधन एवं पर्यावरण' पर मौलिक लेखन के लिए पर्यावरण एवं वन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम पुरस्कार 'मेदिनी पुरस्कार 2004' से सम्मानित किया जा चुका है। 27 जनवरी, 2009 को 'आपदा प्रबंधन' नामक पुस्तक पर पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा 2008 के 'पृथ्वी विज्ञान मौलिक लेखन पुरस्कार' से भी डॉ. जाट सम्मानित किए गए। डॉ. जाट को 2007 में पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा ही 'सागरीय संसाधनों की संभावना' विषय पर लिखे लेख पर देश का प्रथम पुरस्कार डॉ। जाट को मिला। भारतीय भूगोलवेत्ता संघ के 2005 में बेंगुलुरू में तथा वर्ष 2006 में मगध विश्वविद्यालय बोध, गया में यंग ज्योग्राफर अवार्ड के लिए शोध पत्र पढऩे के लिए चुना गया। जून 2008 से डॉ. जाट राजस्थान विश्वविद्यालय जयपुर द्वारा शोध निर्देशन की अनुमति भी प्राप्त कर चुके हैं फिलहाल रिसर्च स्कॉलर्स के साथ राजस्थान में जल एवं पर्यावरण संकट तथा इसके प्रबंधन पर शोधरत हैं। ये शोधार्थी बीकानेर, जैसलमेर, नागौर, सीकर एवं द. हरियाणा जल संकट से सम्बन्धित चुनौतियों पर शोधरत हैं। मई 2009 को यू.जी.सी. भोपाल से डॉ. जाट को जलग्रहण कार्यक्रमों की पोषणीयता पर शोध परियोजना की अनुमति मिली है।


डॉ. जाट को शुभकामनाएं प्रेषित करने के लिए :-

फोन और एसएमएस करें - 09414466923

|
2 Responses
  1. डॉ.बी.सी. जाट एक प्रतिभा का नाम है। प्रतिभा को सलाम।

    श्री धीरेन्‍द्रजी गोदारा को धन्‍यवाद कि उन्‍होंने हम सबसे उनको रू-ब-रू करवाया।

    सादर


  2. S B Tamare Says:

    प्रिय जीतेन्द्र जी,

    आपके सम्पादन में संचालित ब्लॉग ''जूझारू जाट'' कई मिथ्थ्को को तोड़ने और पूर्वाग्रहों को तोड़ने वाला है, यह देखकर बड़ा मगर सुखद आश्चर्या हुआ की जिस समाज में प्रतिभाये एक से बढ़ कर एक उपरा थली पड़ रही हो उस समाज को मुहावरे में इस्तेमाल कर के लोग बाग़ अपनी चिढ मिटाते क्यों है / मै समझता हूँ ''जाट'' समाज की बढ़ चढ़ कर प्रकट हो रही प्रतिभाये निश्चय ही एक दिन मुहावरों में संशोधन के लिए मजबूर कर देगी / मेरी तहे दिल से शुभकामनाये आपके साथ है / shashibhushantamare


Post a Comment

  • हमारे प्रेरणास्रोत

    हमारे प्रेरणास्रोत
    महाराजा सूरजमल

    जाट विकी

    जाट विकी
    जाट समाज का विकीपीडिया है जाटलैंड डॉट कॉम।

    अमेरिका में जाट

    अमेरिका में जाट
    एसोसिएशन ऑफ जाट्स ऑफ अमेरिका : अमेरिका में जाट बंधुओं के समसामयिक मसलों, सांस्कृतिक आयोजनो और विचारों का मंच।

    जाट ऑफिसर्स सोशल फोरम

    जाट ऑफिसर्स सोशल फोरम
    25 जुलाई, 2004 को 800 जाटों के सामुहिक प्रयास और तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष सुमित्रा सिंह की अध्यक्षता में नींव रखी गई। इस दिन शीशराम ओला, कुंवर नटवर सिंह, नामनारायण डूडी, दिगंबर सिंह, उषा पूनिया, नारायण सिंह, डॉ. दिगंबर सिंह व भंवरसिंह डांगावास सरीखे नेताओं की उपस्थिति में जाट फोरम की स्थापना हुई। (संपर्क करें : श्री ईश्वर सिंह बुरडक, 14, इंदिरा नगर, टोंक रोड, जयपुर. मो. 09314422530)

    इंडियन जाट

    इंडियन जाट
    जाट समाज से जुड़ी खबरों, प्रतिभाओं को प्रोत्साहन और विश्वव्यापी जाट समुदाय को एक मंच पर लाने का प्रयास है इंडियन जाट।

    राजस्थान जाट महासभा

    राजस्थान जाट महासभा
    अखिल भारतीय जाट महासभा का अभिन्न हिस्सा राजस्थान जाट महासभा जुझारू जाट नेता राजाराम मील के नेतृत्व में संचालित है।

    मुम्बई जाट समाज

    मुम्बई जाट समाज
    चौधरी दारासिंह की अध्यक्षता में संचालित मुंबई जाट समाज अधिकृत रूप से 1976 से सक्रिय है। संपर्क : उपाध्यक्ष चौधरी नंदरूप जी, फोन : 09323274424, 022- 26129968. पूरा पता : प्लाट नं: 51, सेक्टर 44, एन.आर.आइ. पाम बिच्च रोड, नेरूल, नवी मुम्बई-4007006.

    जाट समाज फरीदाबाद

    जाट समाज फरीदाबाद
    श्री जे.पी.एस. सांगवान की अध्यक्षता में संचालित जाट समाज फरीदाबाद का जाट भवन 8000 स्क्वायर फीट क्षेत्रफल में सेक्टर-3, बल्लभगढ़, फरीदाबाद में बना हुआ है। जाट प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने के लिए जाट समाज फरीदाबाद की खास पहचान है। (तस्वीर में जाट भवन, फरीदाबाद). संपर्क : ई-मेल - jatsamajfbd@gmail.com

    हिमाचल जाट कल्याण परिषद

    हिमाचल जाट कल्याण परिषद
    हिमाचल प्रदेश में जाट बंधुओं को एक मंच पर लाने का सार्थक प्रयास करता हिमाचल जाट कल्याण परिषद। संपर्क : श्री हरनाम सिंह गिल, कांगड़ा, हिमाचल प्रदेश. फोन : 01892-232283, 09418452283

    एनएजेसी चेरिटेबल संस्था

    एनएजेसी चेरिटेबल संस्था
    अमेरिका से संचालित एनएजेसी चेरिटेबल संस्था जाट समाज के पिछड़े और जरूरतमंद बंधुओं की मदद करने के उद्देश्य से शुरू की गई है। जाट विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप, भारतीय गांवों को विकसित करने और चिकित्सा सुविधा मुहैया करवाने में संस्था जुटी है। संपर्क : श्री सुनील चौधरी - न्यूजर्सी, फोन - (732) 308-0721

    जाट मेट्रिमोनियल

    जाट मेट्रिमोनियल
    जाट समाज के विवाह संस्कार से जुड़े मेल-जोल को बढ़ाने और प्रोत्साहित करने वाली बेबसाइट।

    डॉ. घासीराम वर्मा

    डॉ. घासीराम वर्मा
    जाट समाज को हमेशा दिशा देने वाले डॉ. घासीराम वर्मा नवलगढ़ (झुंझुनूं) सीगड़ी गांव में जन्मे. दुनियाभर में अपने अध्ययन-अध्यापन से पहचान कायम की और अपने लोगों के लिए हमेशा समर्पित रहे। घासीराम जी के बारे में जानने के लिए इस तस्वीर पर क्लिक करें। घासीराम जी से यहां संपर्क करें - डॉ. घासीराम वर्मा, मान नगर, नगर परिषद् के सामने, झुंझुनू (दूरभाष : 01592-234758. मोबाइल : 9001546632 )
  • कुशल सिंह

    कुशल सिंह
    इंडिया टुडे का हाल ही 23वीं वर्षगांठ विशेषांक जारी किया गया है। इस बेहतरीन विशेषांक में महिला सशक्तिकरण पर प्रकाशित बेहतरीन आलेख 'तटबंध तोडऩे को हैं तत्पर' में विभिन्न क्षेत्रों की अग्रणी महिलाओं को शामिल किया गया है। श्री रोहित परिहार ने इस विशेष आलेख में राजस्थान की पूर्व मुख्य सचिव श्रीमती कुशल सिंह को भी शामिल किया है।

    देवेन्द्र झाझड़िया

    देवेन्द्र झाझड़िया
    एथेंस पैराओलंपिक में भाला फेंक स्पर्द्धा में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा। उपलब्धियों पर भारत सरकार से 'अर्जुन पुरस्कार` प्राप्त। देवेन्द्र झाझड़िया से यहां संपर्क करें - गांव- जयपुरिया खालसा, तहसील- राजगढ़, जिला- चूरू (राजस्थान) - मोबाइल : 94146 65925.

    सूबेदार बजरंगलाल ताखर

    सूबेदार बजरंगलाल ताखर
    राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील ने अर्जुन पुरस्कार (2008 ) प्रदान किया। 4 से 8 नवम्बर, 2009 तक ताईवान में आयोजित 13 वीं एशियन नौकायान चैम्पियनशिप में हांगकांग को हराकर स्वर्ण पदक जीता। 2007 में कोरिया में 12वीं एशियन चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता। 12 वें एशियन रोर्ईग चैम्पियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए रजत पदक हासिल किया। 2008 में ओलम्पिक में रजत पदक जीता. सूबेदार बजरंगलाल ताखर से यहां संपर्क करें - गाँव - मगनपुरा ( दांतारामगढ़ ) सीकर.

    वीणा सहारण

    वीणा सहारण
    भारतीय वायुसेना का सबसे बड़ा हवाई जहाज (आईएल-76) उड़ाकर इतिहास रचने वाली प्रथम भारतीय महिला पायलट। वीणा सहारण से यहां संपर्क करें - पुत्री (श्री) कर्नल हरिसिंह सहारण, 158, महादेव नगर, गांधी पथ, जयपुर- ( ई मेल - saharanveena@yahoo.co.in )

    कविता गोयत

    कविता गोयत
    'एशियाई इंडोर गेम्स- 2009' में 64 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल किया है। कविता गोयत से यहां संपर्क करें - 09416181362.

    डॉ. भरत ओला

    डॉ. भरत ओला
    राजस्‍थानी साहित्‍य के जानेमाने कथाकार. डॉ. भरत ओला की पहली ही पुस्‍तक पर साहित्‍य अकादेमी पुरस्‍कार मिला. डॉ. भरत ओला से यहां संपर्क करें - डॉ. भरत ओला, 37, सेक्‍टर नं. - 5, नोहर (हनुमानगढ़) राजस्‍थान - मोबाइल :- 9414503130.

    डॉ. बी.सी. जाट

    डॉ. बी.सी. जाट
    भूगोल के अहम हस्ताक्षर डॉ. बी.सी. जाट की मात्र 37 वर्ष की उम्र में भूगोल पर 25 पुस्तकें प्रकाशित। राष्ट्रीय स्तर पर 'मेदिनी पुरस्कार' और 'पृथ्वी विज्ञान मौलिक लेखन पुरस्कार' से भी सम्मानित। डॉ. जाट से यहां संपर्क करें -9414466923

    मि. इंडिया प्रवेश राणा

    मि. इंडिया प्रवेश राणा
    मिस्टर इंडिया - 2008 का खिताब जीतने वाले प्रवेश राणा आईबीएम कंपनी में गुणवत्ता सलाहकार के पद पर काम का अनुभव रखते हैं। देश-विदेश की शीर्ष कंपनियों के लिए विज्ञापन, स्टार और जूम जैसे टीवी चैनलों के लिए एंकरिंग कर चुके प्रवेश हिंदी फिल्मों में भी भाग्य आजमा रहे हैं। मि. इंडिया प्रवेश राणा से यहां संपर्क करें - 09870791199, 09811603013.

    ब्लॉग संपादक :

    ब्लॉग संपादक :
    डॉ. जितेन्द्र बगडिय़ा, मूल्त: सीकर जिले के निवासी, जयपुर में चिकित्सा अध्ययन में जुटे।

    ब्लॉग संपादक

    ब्लॉग संपादक
    बेबी (पीएच.डी. और जनसंचार व पत्रकारिता में स्नातकोत्तर)

    सब्सक्राइब करें

    Enter your email address:

    Delivered by FeedBurner

    Followers

    हमसे संपर्क करें...

    हमसे संपर्क करें...
    आपके पास है कोई ऐसी खबर जो जुझारू जाट ब्लॉग पर प्रकाशित हो सकती है, तो हमें तुरंत ई-मेल ( jujharujat@gmail.com ) करें। फोन ( 09414049006 ) पर बतलाएं।

    टोटल हिट्स

    चिट्ठाजगत

    चिट्ठाजगत अधिकृत कड़ी